टोल फ्री नंबर: 1800-34-53627 ईमेल पता: rd-ner@esicner.in
मुख्य पृष्ठ | स्थान मानचित्र | संपर्क

(1) “महत्वपुर्ण सूचना” : 30 (तीस) दिनों के अंदर, अस्थाई पहचान पत्र की समाप्ति” : अधिक जानकारी के लिए, “नवीनतम सूचना” देखें। (2) आफलाइन चालानों की स्वीकृति एस.बी.आई. शाखाओं द्वारा – के संबंध में : अधिक जानकारी के लिए, “समाचार एवं घटनाक्रम” देखें।

उपचार की पद्घति

चिकित्सा हितलाभ प्रदान करने के लिए सामान्यत: एलोपैथी पद्घति का उपयोग किया जाता है | तथापि, जहाँ पर्याप्त संख्या में कामगार एलोपैथी से इतर भारतीय चिकित्सा पद्घति तथा होम्योपैथी (भा.चि.प. एवं हो.) से उपचार की मांग करते हैं तथा जहाँ राज्य सरकार ने ऐसी पद्घति में अर्हताओं को मान्यता दी है, वहां उपचार सुविधाएं भा.चि.प. एवं हो. के अंतर्गत भी प्रदान की जा सकती हैं | उपचार की विभिन्न प्रचलित भा.चि.प. एवं हो. पद्घतियां हैं- आयुर्वेदिक, यूनानी, सिद्घ, योग चिकित्सा तथा होम्योपैथी |

भा.चि.प. एवं हो. द्वारा उपचार कराने वाले व्यक्तियों के संबंध में नकद हितलाभ के प्रयोजनार्थ अपेक्षित प्रमाणपत्र् ऐसी पद्घति में मान्यता प्राप्त अर्हता धारक तथा राज्य सरकार द्वारा विधिवत्र नियुक्त बीमा चिकित्सा अधिकारी/बीमा चिकित्सा व्यवसायी द्वारा जारी किए जाएं | भा.चि.प. एवं हो. के अंतर्गत प्रमाणपत्र् जारी करना केवल वहीं संभव है जहां एलोपैथी चिकित्सा से इतर पद्घतियों वाले औषधालय संबद्घ बीमाकृत व्यक्तियों और उनके परिवार एककों के साथ स्वतंत्र् रूप से कार्यचालन कर रहे हैं तथा मात्र् रेफरल एककों के रूप में कार्यचालन नहीं कर रहे हैं | उन स्थानों में जहाँ भा.चि.प. एवं हो. एकक केवल रेफरल केन्द्रों के रूप में कार्यचालन करते हैं, वहां प्रमाणपत्र् बीमाकृत व्यक्ति के संबद्घ एलोपैथी औषधालय द्वारा जारी किए जाएंगे |