टोल फ्री नंबर: 1800-34-53627 ईमेल पता: rd-ner@esicner.in
मुख्य पृष्ठ | स्थान मानचित्र | संपर्क
(1) कर्मचारी राज्य बीमा निगम, क्षेत्रीय कार्यालय और पूर्वोत्तर क्षेत्र में स्थित शाखा कार्यालयों (सिंक्किम को छोड़कर)  में वर्ष 2018-2019 में हाउस कीपींग कार्य के लिए जन शक्ति की आपूर्ति (2) “महत्वपुर्ण सूचना” : 30 (तीस) दिनों के अंदर, अस्थाई पहचान पत्र की समाप्ति” : अधिक जानकारी के लिए, “नवीनतम सूचना” देखें। (3) आफलाइन चालानों की स्वीकृति एस.बी.आई. शाखाओं द्वारा – के संबंध में : अधिक जानकारी के लिए, “समाचार एवं घटनाक्रम” देखें।

बीमारी हितलाभ

बीमारी हितलाभ, हितलाभ अवधि में हुई प्रमाणित बीमारी की अवधि के दौरान जब बीमाकृत व्यक्ति को उपचार तथा परिचर्या के साथ चिकित्सा आधार पर कार्य से अनुपस्थिति की आवश्यकता हो, उस अवधि के दौरान बीमाकृत व्यक्ति को किए गए आवधिक नकद भुगतान का प्रतिनिधित्व करता है । निर्धारित प्रमाणपत्र फाॅर्म 8, 9, 10, 11 तथा क.रा.बी.नि.-मेड.13 हैंै । बीमारी हितलाभ औसत दैनिक मजदूरी का 70% है तथा 2 क्रमिक हितलाभ अवधियों के दौरान 91 दिनों के लिए देय है ।

अर्हक शर्तें
(i) बीमारी हितलाभ का पात्र बनने के लिए बीमाकृत व्यक्ति द्वारा तदनुरुपी अंशदान अवधि के दौरान 78 दिनों से कमतर नहीं के लिए अंशदान देय होना चाहिए।

(ii) बीमायोग्य रोजगार में पहली बार आने वाले व्यक्ति को बीमारी हितलाभ के लिए पात्र होने से करीब 9 माह के लिए प्रतीक्षा करनी होती है क्योंकि उसकी तदनुरुपी हितलाभ अवधि उस अंतराल के बाद ही शुरु होती है।

(iii) पिछला दौर, जिसके लिए अंतिम बार बीमारी हितलाभ का भुगतान किया गया था, समाप्त होने के 15 दिनों के अंदर दौर शुरु हो गया हो, उस स्थिति के अलावा बीमारी हितलाभ बीमारी के दौर के पहले दो दिनों के लिए देय नहीं होता । इस 2 दिनों की अवधि को “प्रतीक्षा अवधि” कहते हैं। यह व्यवस्था बीमा चिकित्सा अधिकारी/बीमा चिकित्सा व्यवसायियों को स्पष्ट होनी चाहिए क्योंकि वास्तविक अनुभव दर्शाता है कि सारहीन आधार पर चिकित्सा छुट्टी लेने के इच्छुक बीमाकृत व्यक्ति नई प्रतीक्षा अवधि के कारण 2 दिन की हितलाभ की हानि से बचने के लिए प्रायः अप्रदत्त अवकाश तथा/अथवा प्रत्येक सप्ताहांत आदि को पहले दौर में 15 दिनों के अंदर सामान्यतः प्रथम प्रमाण पत्र/प्रथम एवं अंतिम प्रमाण पत्र के लिए आते हैं।